अनुसूचित जाति समाज के लोगों के लिए न्याय पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन साबित हो रहा है
February 22, 2020 • Sachin Kumar

अनुसूचित जाति समाज के लोगों के लिए न्याय पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन साबित हो रहा है

 आज वर्तमान समय में भारत के अंदर जगह जगह अनुसूचित जाति समाज के लोगों पर अत्याचार की घटनाएं सामने आ रही हैं लेकिन उन पर प्रशासन अंकुश लगाने में मौन साबित हो रहा है
 ऐसी ही घटना उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर के खुर्जा क्षेत्र के गांव हबीबपुर की सामने आई है जहां पर 19 फरवरी 2020 को राजू जाटव नामक छात्र को जान से मारने का प्रयास दबंग लोगों द्वारा किया गया जिसमें न्याय की गुहार लगाते हुए नजदीकी पुलिस प्रशासन को 19 फरवरी को शिकायत पत्र दिया गया लेकिन घटना के 4 दिन व्यतीत होने के बाद भी पुलिस प्रशासन द्वारा अपराधियों पर कोई कार्यवाही तक नहीं की गई जिससे पीड़ित परिवार में आहत होकर समाजसेवियों के साथ मिलकर 22 फरवरी 2020 को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बुलंदशहर के यहां जाकर न्याय की गुहार लगाते हुए अपराधियों पर जल्द कार्यवाही के लिए आग्रह किया जिस में उपस्थित रहे बहुजन समाज पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता महेश बौद्ध जी, एड. मदन पाल गौतम जी, एड. सुरेश चंद गौतम जी, डॉ राहुल कुमार समाज सेवक, ब्रह्म प्रकाश गौतम, कपिल गौतम, लेखराज गौतम, विकास गौतम और पीड़ित परिवार के बहुत से सदस्य उपस्थित रहे