भारत में खतरनाक हुआ कोरोना का कहर, 4 दिन में बढ़े 1000 नए मरीज
April 3, 2020 • Sachin Kumar

भारत में खतरनाक हुआ कोरोना का कहर, 4 दिन में बढ़े 1000 नए मरीज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अब तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 2069 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 53 लोगों की मौत हुई है.

नई दिल्ली. चीन से पूरी दुनिया में फैला कोरोना वायरस अब भारत में भी तेजी से बढ़ने लगा है. इसे तबलीगी जमात की लापरवाही का ही नतीजा कहेंगे कि भारत में केवल 4 दिन के अंदर 1000 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अब तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 2069 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 53 लोगों की मौत हुई है.

बता दें कि कोरोना वायरस ने अब पूरे देश को अपने कब्जे में ले लिया है. अब तक देश के 29 राज्यों में कोरोना वायरस फैल चुका है. भारत में कोरोना वायरस के खतरनाक हमले का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले महीने की शुरुआत यानी 1 मार्च तक देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या महज 3 थी. यह आंकड़ा धीरे धीरे बढ़ता गया और 14 मार्च तक संक्रमि​त मरीजों की संख्या 100 के आंकड़े को पार कर गई. 

24 मार्च को यह आंकड़ा 500 को पार कर गया और 29 मार्च तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ने 1000 के आंकड़े को पार कर लिया.इसके बाद भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ और मजह 4 दिन के अंतर पर संक्रमित मरीजों की संख्या 2000 को पार कर गई.

तबलीगी जमात की लापरवाही का नतीजा

देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 2000 के करीब पहुंच गए हैं. देश भर में दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात की मरकज में शामिल हुए 400 लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा अचानक बढ़ गया है. इन हालातों को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तबलीगी गतिविधियों में शामिल हुए करीब 960 विदेशियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है. 

गृह मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जानकारी दी गई कि गृह मंत्रालय द्वारा पर्यटक वीजा पर तब्लीगी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने के कारण 960 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट किया गया है और साथ ही उनका भारतीय वीजा भी रद्द कर दिया गया है.

तबलीगी जमात से जुड़े 19 लोगों की मौत

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है. देश में अब तक आए कुल 2069 मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा मामले अकेले तबलीगी जमात से जुड़े लोगों के हैं. 

अबतक तबलीगी जमात के 500 से ज्यादा लोगों को कोरोना संक्रमण की पुष्टि की जा चुकी है. यह आंकड़ा अभी और भी ज्यादा हो सकता है क्योंकि बहुत से लोगों की जांच नमूनों की ​रिपोर्ट आना बाकी है.

राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां पर अकेल 293 केस हो चुके हैं, जिसमें से 182 केस मरकज से जुड़े हुए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुता​बिक अब तक मरकज से जुड़े 19 लोगों की मौत कोरोना वायरस की वजह से हुई है, जिसमें से दिल्ली में 2 मौतें हुईं हैं.