भारतीय नेविगेशन सपोर्ट वाला दुनिया का पहला स्मार्टफोन है Realme X50 Pro 5G
March 2, 2020 • Sachin Kumar

भारतीय नेविगेशन सपोर्ट वाला दुनिया का पहला स्मार्टफोन है Realme X50 Pro 5G

रियलमी ने भारत में पहला नाविक (NAVIC) नेविगेशन सपोर्ट वाला स्मार्टफोन लॉन्च कर दिया है और यह फोन है Realme X50 Pro 5G। वहीं रियलमी ने यह भी कहा है कि भविष्य में लॉन्च होने वाले उसके सभी स्मार्टफोन में भारतीय नेविगेशन सिस्टम नाविक का सपोर्ट मिलेगा। आइए जानते हैं भारत के नेविगेशन सिस्टम NAVIC के बारे में विस्तार से...

*क्या है नाविक नेविगेशन सिस्टम?*

सबसे पहले आपको बता दें कि नाविक भारत का अपना सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम है। उदाहरण के तौर पर समझें तो जिस तरह अमेरिका के पास जीपीएस है, रूस के पास ग्लोनॉस है, यूरोप के पास गैलीलियो है, चीन के पास बायडू (BeiDou) नेविगेशन सिस्टम है,
जापान के पास क्वासी-जेनिथ सेटेलाइट सिस्टम उसी तरह अब भारत पास नाविक (NavIC) है। नाविक नेविगेशन के जरिए पांच मीटर की दूरी से सटीक जानकारी हासिल की जा सकेगी।

नाविक में डुअल फ्रीक्वेंसी है, इसलिए यह जीपीएस से सटीक होगा, क्योंकि जीपीएस में सिर्फ एक ही फ्रीक्वेंसी है। जीपीएस के मुकाबले शहरी इलाकों में नाविक की सटीकता छह गुना अधिक होगी। नाविक को भारत के भौगोलिक हिसाब से तैयार करेगा। ऐसे में यह संकरी गलियों और पगडंडी वाले इलाके में भी सटीकता के से काम करेगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब 30 भारतीय कंपनियां नाविक के साथ गाड़ियों के लिए ट्रैकर बना रही हैं।
भारत का अपना सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम है। उदाहरण के तौर पर समझें तो जिस तरह अमेरिका के पास जीपीएस/ए जीपीएस है, रूस के पास ग्लोनॉस है, यूरोप के पास गैलीलियो है, चीन के पास बायडू (BeiDou) नेविगेशन सिस्टम है, जापान के पास क्वासी-जेनिथ सेटेलाइट सिस्टम उसी तरह अब भारत दुनिया का छठवा देश है जिसके पास नेविगेशन सिस्टम नाविक (NavIC) है। अमेरिका, रूस, चीन यूरोपीय यूनियन का नेविगेशन सिस्टम पूरी दुनिया में काम करता है।भारत और जापान का नेविगेशन सिस्टम देश के अंदर आस पास देश तक का काम करता है।
 बता दें कि रियलमी के अलावा शाओमी ने भी अपने रेडमी फोन को नाविक के साथ लॉन्च करने का एलान किया है।