इंदौर से भेजा गया कोरोना पॉजिटिव कैदी जावेद जबलपुर अस्‍पताल से भागा
April 19, 2020 • Sachin Kumar

इंदौर से भेजा गया कोरोना पॉजिटिव कैदी जावेद जबलपुर अस्‍पताल से भागा

पुलिस अधीक्षक ने फरार कैदी पर दस हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।

जबलपुर। इंदौर से भेजा गया कोरोना पॉजिटिव कैदी जावेद खान स्‍थानीय मेडिकल अस्‍पताल से उपचार के दौरान भाग गया। इस घटना से शहर में सनसनी है।

घटना के बाद जहां मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल की सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी कर दी गई है वहीं फरार कैदी पर पुलिस अधीक्षक ने दस हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है। जानकारी के अनुसार सुपर स्‍पेशलिटी अस्‍पताल में स्‍थानांतरित करने के दौरान जावेद भागा है।कल रात जावेद ने आइसोलेशन वार्ड में महिलाओं पर फब्तियां कसी थीं और अश्लील इशारे किए थे। महिला कर्मी इससे परेशान थी।

इससे पहले इंदौर से जबलपुर भेजे गए बंदी जावेद खान के हर उस ठिकाने को सैनिटाइज किया जाने लगा है, जहां वह रुका, भोजन किया या बैठा था। जिला प्रशासन की टीम लगातार ऐसे ठिकानों पर पहुंचने लगी है।

मझौली तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव की टीम ने रविवार को मझौली के मोहला चेकपोस्ट को ही हटा दिया, क्योंकि इसी चेकपोस्ट पर पुलिस टीम के साथ कोरोना संक्रमित बंदी ने खाना खाया था।

वहीं चेकपोस्ट पर तैनात सभी कर्मचारियों को भी हटा दिया गया और चेकपोस्ट दूसरी जगह लगाया गया। इसके अलावा एक महिला जो अरमेनिया से मझौली 20 दिन पहले आई थी, उसे भी वायरस की जांच के लिए विक्टोरिया अस्पताल भेजा गया।

कुर्सी-टेबल सैनिटाइज की गई

मोहला चेकपोस्ट मझौली से सिहोरा के बीच पड़ता है। इस जगह बंदी जावेद खान और पुलिस कर्मियों की टीम ने 9 अप्रैल को शहर आते समय खाना खाया था। इसी वजह से चेकपोस्ट को हटाने का काम किया गया। वहीं तहसीलदार ने कुर्सी टेबल से लेकर अन्य साजो सामान को भी सैनिटाइज कराया है। तैनात सभी कर्मियों का भी स्वास्थ्य परीक्षण अब किया जाएगा। जिससे उनमें संक्रमण की स्थिति का पता लगाया जा सके।