कंपनी के कर्मचारी से बुलंदशहर में भी पहुंचा कोरोना
March 31, 2020 • Sachin Kumar

*नोएडा सीजफायर कंपनी हुई सील, इसकी वजह से 19 लोगों में फैला कोरोना का संक्रमण -*


 

 नोएडा में सीजफायर नाम की एक कंपनी है, जिसके 11 कर्मचारियों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। पहले तो कंपनी के खिलाफ केस दर्ज हुआ और अब कंपनी को सील कर दिया गया है। नोएडा के सेक्टर 135 में स्थित इस कंपनी में बीते दिनों लंदन से एक ऑडिटर आया था औरर कंपनी ने इसकी बात प्रशासन से छुपाई। कंपनी की लापरवाही से 11 कर्मचारी समेत कुल 19 लोगों में कोरोना का संक्रमण फैला है।
लंदन से ऑडिटर आने की बात कंपनी ने छिपाई

नोएडा सेक्टर-135 स्थित सीज फायर कंपनी में बीते दिनों लंदन से एक ऑडिटर आया था। कंपनी ने इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग से न सिर्फ छिपाई, बल्कि कर्मचारियों के बचाव के लिए भी जरूरी इंतजाम नहीं किए। ऑडिटर पास के ही एक फाइव स्टार होटल में भी ठहरा था। अब आलम यह है कि विदेशी ऑडिटर के जरिए कंपनी के कर्मचारियों में संक्रमण फैल चुका है। 11 कर्मचारियों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है। इन कर्मचारियों के अलावा ऑडिटर के संपर्क में आने वाले 8 अन्य लोगों में भी संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है।


कंपनी के कर्मचारी से बुलंदशहर में भी पहुंचा कोरोना

संक्रमित कर्मचारियों के परिजनों में भी संक्रमण की आशंका बढ़ चुकी है। इसी कंपनी के कर्मचारी के जरिए पड़ोस के जिले बुलंदशहर में कोरोना वायरस पहुंचा, आज वहां पहला मरीज मिला, ये इसी कंपनी का कर्मचारी है। अन्य कई लोग भी इसके जरिए संक्रमित हो गए हैं।
ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस: हेल्पलाइन, हॉस्पिटल... आपके काम की हर जानकारी यहां
कंपनी के खिलाफ दर्ज हुआ केस
गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनुराग भार्गव ने सीज फायर कंपनी के खिलाफ एक्सप्रेसवे थाने में केस दर्ज कराया है। लंदन से आए ऑडिटर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। यह FIR महामारी अधिनियम 1897 के तहत दर्ज कराई गई है !