लखनऊ चौक इलाके में दिनदहाड़े गोली मार हत्याकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग! 24 घंटे में खुलासा होने का दावा काबीना मंत्री बृजेश पाठक और लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मृतक के परिजनों और व्यापारी संगठन को दिया था आश्वासन! रुपये से भरा बैग छीनने के दौरान हत्या करने बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग ! 10 दिन बीत जाने के बाद भी लखनऊ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की हाईटेक क्राइम टीम के हाथ अब तक खाली..... 24 घंटे के अंदर बदमाशों को पकड़ने का जिम्मेवारों ने किया दावा हुआ फेल....... व्यापार संगठन एक दिन प्रदर्शन करने के बाद बैठा शांत,गुलदस्ता भेंट के बाद व्हाट्सएप ग्रुप पर अपडेट करने दौर हुआ शुरू बीते 20 फरवरी को चौक रकाबगंज इलाके में बाइक सवार चार बदमाशों ने दिया था रुपये से भरा बैग लूट के बाद हत्या को दिया था अंजाम.. जेल में बन्द बदमाशों को सीसीटीवी में दिखे बदमाशों की फ़ोटो से कराई गई पहचान, एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों से की जा चुकी हैं पूछताछ कमला पसंद एजेंसी में दिनदहाड़े बदमाशों का हमला कर लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने सुभाष नाम के कर्मचारी को मारी थी गोली, सरकार द्वारा पूरे मामले का संज्ञान लेने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ अब तक खाली.......!
March 2, 2020 • Sachin Kumar

लखनऊ

चौक इलाके में दिनदहाड़े गोली मार हत्याकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग!

24 घंटे में खुलासा होने का दावा काबीना मंत्री बृजेश पाठक और लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मृतक के परिजनों और व्यापारी संगठन को दिया था आश्वासन!


रुपये से भरा बैग छीनने के दौरान हत्या करने बदमाशों का नहीं लगा कोई सुराग !


10 दिन बीत जाने के बाद भी लखनऊ पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की हाईटेक क्राइम टीम के हाथ अब तक खाली.....


24 घंटे के अंदर बदमाशों को पकड़ने का जिम्मेवारों ने किया दावा हुआ फेल.......

व्यापार संगठन एक दिन प्रदर्शन करने के बाद बैठा शांत,गुलदस्ता भेंट के बाद व्हाट्सएप ग्रुप पर अपडेट करने दौर हुआ शुरू


बीते 20 फरवरी को चौक रकाबगंज इलाके में बाइक सवार चार बदमाशों ने दिया था रुपये से भरा बैग लूट के बाद हत्या को दिया था अंजाम..

जेल में बन्द बदमाशों को सीसीटीवी में दिखे बदमाशों की फ़ोटो से कराई गई पहचान, एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों से की जा चुकी हैं पूछताछ

कमला पसंद एजेंसी में दिनदहाड़े बदमाशों का हमला कर लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने सुभाष नाम के कर्मचारी को मारी थी गोली,


सरकार द्वारा पूरे मामले का संज्ञान लेने के बाद भी लखनऊ पुलिस के हाथ अब तक खाली.......!