लखनऊ: दंगाइयों के बीच छपी अपनी तस्वीर पर मौलाना कल्बे सादिक के बेटे सिब्तैन नूरी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।
March 7, 2020 • Sachin Kumar

लखनऊ: दंगाइयों के बीच छपी अपनी तस्वीर पर मौलाना कल्बे सादिक के बेटे सिब्तैन नूरी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। शुक्रवार को सिब्तैन नूरी ने कहा, मौलाना सैफ अब्बास, सदफ जाफर और मुझे दंगाई बनाकर पोस्टर लगाए गए हैं। जबकि हम लोगों का हिंसा में कोई रोल नहीं था। इस सरकार की नजर में न कानून की कोई इज्जत है, न कानून व्यवस्था की कोई इज्जत है और न ही लोगों के अधिकार और मान सम्मान की कोई इज्जत है।

सिब्तैन नूरी ने कहा, हम लोगों ने उस दिन बड़े इमामबाड़े पर शांतिपूर्ण तरीके से सीएए का विरोध किया था। हिंसा के बीच कुछ विदेशी नागरिकों को हम लोगों ने बचाया भी था। लेकिन उसका सिला हमें दंगाई बनाकर दिया गया। लेकिन सरकार यह न समझे कि हम लोग इससे डर जाएंगे। हम लोग हतोत्साहित भी नहीं होंगे। हमारे पास कोर्ट जाने का रास्ता खुला हुआ है। हमें पूरी उम्मीद है कि कोर्ट से हमें इंसाफ मिलेगा। सिब्तैन नूरी ने कहा, दंगा कराने के आरोपी कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर जैसे लोग खुलेआम घूम रहे हैं। जबकि बेकसूर लोगों को फंसाया जा रहा है।

सिब्तैन नूरी ने कहा कि अब हमें पुलिस पर ऐतबार नहीं रहा। क्योंकि पुलिस पर भारी दबाव है। अब हमें सिर्फ कोर्ट पर भी विश्वास है। प्रशासन के इस निर्णय के खिलाफ हम कोर्ट जाएंगे। जहां से हमें उम्मीद है कि हम बाइज्जत बरी होंगे। कहा हम प्रशासन के खिलाफ मानहानि का केस भी करेंगे। झूठा केस बनाकर हम लोगों को फंसाया गया। हम लोग हमेशा अमन और शांति की बात करते हैं। हम लोग देश और लोकतंत्र के लिए लड़ रहे हैं। इसलिए हमें ऐसे मामलों से कोई फर्क पड.ने वाला नहीं है।