मरकज में देश-विदेश से आए 1800 से भी ज्यादा लोग ठहरे हुए थे। ये सभी लोग एक धार्मिक समारोह में भाग लेने के लिए दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित मरकज में आए हुए थे।
March 31, 2020 • Sachin Kumar

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से जूझ रहे देश में दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में कोरोना वायरस का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मरकज में देश-विदेश से आए 1800 से भी ज्यादा लोग ठहरे हुए थे। ये सभी लोग एक धार्मिक समारोह में भाग लेने के लिए दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित मरकज में आए हुए थे। इसमें हिस्सा लेने वाले कई लोग अपने-अपने राज्यों की तरफ लौट गए थे, जिसके चलते वायरस के फैलने का खतरा बढ़ गया है।

यूपी से 156, महाराष्ट्र से आए 109 लोग
तमिलनाडु से 501, असम से 216, उत्तर प्रदेश से 156, महाराष्ट्र से 109, मध्य प्रदेश से 107, बिहार से 86, पश्चिम बंगाल से 73, हैदराबाद से 55, रांची से 46 लोगों ने शिरकत की थी। वहीं, अन्य स्थानों की बात करें तो अंडमान से 21, हरियाणा से 22, हिमाचल प्रदेश से 15, कर्नाटक से 45, केरल से 15, मेघालय से 5, ओडिशा से 15, पंजाब से 9, राजस्थान से 19 और उत्तराखंड से 34 लोगों ने तबलीगी जमात की सभा में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी। इन सबके अलावा 281 विदेशी मेहमान भी शामिल हुए थे और कुल संख्या 1830 थी।

18 मार्च को हुआ था भव्य कार्यक्रम
निजामुद्दीन में स्थित मरकज तबलीगी जमात में 18 मार्च को एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ था। इस कार्यक्रम में सैकड़ों लोग जमा हुए थे। हालांकि अब कोरोना वायरस का मामला सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। अब तक इस मरकज से हजार से ज्यादा लोगों को निकाला जा चुका है। निकाले गए लोगों में से 24 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। बता दें कि मरकज से निकाले गए लोगों में से 334 लोग अस्पताल में भर्ती हैं और बाकी के करीब 700 लोगों को क्वारेंटाइन में रखा गया है।