मौजूदा हालात में भड़काऊ बयान देने वालों पर केस दर्ज  करना ठीक नहीं- दिल्ली हाईकोर्ट
February 29, 2020 • Sachin Kumar

मौजूदा हालात में भड़काऊ बयान देने वालों पर केस दर्ज  करना ठीक नहीं- दिल्ली हाईकोर्ट

नई दिल्ली: दिल्ली में हिंसा और भड़काऊ बयानों पर कार्रवाई को लेकर हाईकोर्ट में गुरुवार को दूसरे दिन भी सुनवाई हुई। इसमें पुलिस ने दलील दी कि मौजूदा हालात को देखते हुए भड़काऊ बयान देने वालों पर केस दर्ज करना ठीक नहीं। इससे दिल्ली में शांति और हालात सामान्य करने में मदद नहीं मिलेगी। दिल्ली पुलिस अब तक हिंसा मामले में 48 एफआईआर दर्ज कर चुकी है।106 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।_
इससे पहले हाईकोर्ट ने बुधवार को कपिल मिश्रा समेत 3 भाजपा नेताओं के भड़काऊ बयानों पर एफआईआर में देरी पर दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई थी। गुरुवार को पुलिस की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता चीफ जस्टिस डीएन पटेल की बेंच के सामने पेश हुए।_
मेहता ने सामान्य होने तक कोर्ट की तरफ से जल्दबाजी में हस्तक्षेप न करने और केंद्र सरकार को भी पार्टी बनाने की गुजारिश की, जिस पर कोर्ट ने सहमति जताई। मेहता ने कहा कि याचिकाकर्ता ने सिर्फ 3 भड़काऊ भाषणों का जिक्र किया है। ऐसे कई भाषण मौजूद हो सकते हैं।_