ट्रेनों में हुई लूट का किया खुलासा, खुलासे में छेद ही छेद बरामदगी न के बराबर, चार मामले खोलने का दावा कई दिन लुटेरे को बैठाया, फिर भी एक ही के भरोसे खोल दी डकैती की घटना 
March 1, 2020 • Sachin Kumar

फ़तेहपुर ख़ास ख़बर

ट्रेनों में हुई लूट का किया खुलासा, खुलासे में छेद ही छेद

बरामदगी न के बराबर, चार मामले खोलने का दावा
कई दिन लुटेरे को बैठाया, फिर भी एक ही के भरोसे खोल दी डकैती की घटना 

 

जनपद के चखेड़ी के पास सिग्नल लाल कर गरीब रथ एक्सप्रेस व संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस में हुई चोरी की घटना का अनावरण करते हुए शुक्रवार को आरपीएफ व जीआरपी की संयुक्त टीम ने घटना में शामिल एक युवक को गिरफ्तार किया है। वही 5 लोग अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। पकड़े गए अभियुक्त के पास से पुलिस ने अलग-अलग मुकदमों से सम्बंधित चोरी किए गए रुपए तथा चोरी का एक मोबाइल भी बरामद किया है। हालांकि जीआरपी का यह खुलासा किसी के गले नहीं उतर रहा है। जिससे खुलासे पर तरह तरह के प्रश्नचिन्ह उठ रहे हैं।
घटना का खुलासा करते हुए सीओ जीआरपी राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि लगभग डेढ़ माह पूर्व 10 जनवरी की रात ब्लॉक हट चखेड़ी के पास सिग्नल लाल कर गरीब रथ एक्सप्रेस व संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस में अज्ञात लोगों द्वारा चोरी की  घटनाओं को अंजाम दिया गया था। इस संबंध में मुकदमा पंजीकृत कर चोरों की तलाश की जा रही थी। उन्होंने बताया कि थाना अध्यक्ष जीआरपी अरविंद कुमार सरोज आरपीएफ पोस्ट कमांडर प्रवीण सिंह के संयुक्त अभियान के दौरान उप निरीक्षक इमरान खान कांस्टेबल असित कुमार आरपीएफ निरीक्षक मुकेश कुमार कांस्टेबल राधेश्याम शुक्ला कांस्टेबल नागेंद्र सिंह,राकेश शुक्ला द्वारा फतेहपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो से एक संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किए गए युवक से जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसका नाम सन्नी डवास पुत्र बिरजू उर्फ़ बृजलाल निवासी जाटान खानपुर थाना झिंझाना जनपद शामली है। उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बीते 10 जनवरी की रात्रि को सिग्नल लाल कर ट्रेनों में चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया था। पकड़े गए युवक ने बताया कि उसके साथ पांच अन्य साथी भी थे । युवक के पास से पुलिस ने चोरी का मोबाइल समेत लगभग अलग अलग मामलों से संबंधित कुल 5450 रुपए बरामद किए हैं। सीओ जीआरपी राजेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि यह अपने साथियों के साथ मिलकर फतेहपुर कानपुर हरियाणा अन्य स्थानों पर सिग्नल लाल कर ट्रेन के यात्रियों के सामानों की चोरी करते हैं। उन्होंने बताया कि इस गिरोह का मुख्य सरगना कन्हैया है। जो पुलिस टीम इसको पकड़ेगी उस टीम को इनाम दिया जाएगा।

- जीआरपी व आरपीएफ के खुलासे में झोल ही झोल

जीआरपी व आरपीएफ के इस संयुक्त खुलासे में झोल ही झोल स्पष्ट नज़र आ रहा है। बता दें कि जिले में लगभग दो महीनो के अंदर लुटेरों ने छह स्थानो पर सिग्नल लाल करके ट्रेन की बोगियों में कई लूट की घटनाओं को अंजाम दिया था। इन मामलो में जीआरपी पुलिस ने चार मुकदमे भी दर्ज किए थे मगर जीआरपी और आरपीएफ लगातार ऐसी घटनाओं के होने से इंकार करती रही। लेकिन मामला लगातार अखबारों की सुर्खियां बना रहा। अंततः भारी दबाव के चलते इस मामले का जीआरपी व आरपीएफ ने संयुक्त खुलासा किया तो उसमे भी चार मुकदमे एक लुटेरे के भरोसे खोल दिया। जबकि सभी मामलों के खुलासों में बरामदगी भी न के बराबर है। जबकि विश्वस्त सूत्रों की माने तो जीआरपी ने उक्त आरोपी लुटेरे के साथ साथ कई संदिग्ध लोगों को उठाया था और उन्हें धीरे धीरे मैनेजमेंट के रास्ते छोड़ दिया। एक लुटेरे के भरोसे इतनी घटनाएं खोलना किसी को पच नहीं रही है। हालांकि जीआरपी के स्क्रिप्ट में अभी कई फरार भी हैं जिन्हें वह पकड़ने का दावा कर रही है मगर उस दावे पर कैसे लोग यकीन करें जब अभी तक लगातार लूट ( चोरी ) की घटनाएं होने से ही इंकार किया जा रहा था।