उत्तर प्रदेश के पहले ट्रिपल तलाक़ मुद्दे में आया नया मोड़ कलयुगी बाप ने उजाड़ दिया बेटी की खुशियां ससुर ने अपनी बेटी की उम्र की लड़की से विवाह कर बनाया उसको  माँ। दामाद बेटी को बना दिया उसका मा बाप
March 6, 2020 • Sachin Kumar

कानपुर बिग ब्रेकिंग

उत्तर प्रदेश के पहले ट्रिपल तलाक़ मुद्दे में आया नया मोड़

कलयुगी बाप ने उजाड़ दिया बेटी की खुशियां

ससुर ने अपनी बेटी की उम्र की लड़की से विवाह कर बनाया उसको  माँ। दामाद बेटी को बना दिया उसका मा बाप

देश का तीसरा और उत्तरप्रदेश का पहला ट्रिपल तलाक का मुद्दा यहा कानपुर के ग्वालटोली थाने में दर्ज तोह हुआ ,किन्तु प्रथम दृष्टया जांच में ही इस मामले में ऐसे,ऐसे पर्दे उठने लगे है । जिससे तलाक़ के आरोपी को किस तरह से उसकी पत्नी व ससुराल वालों ने षडयंत्र में फसाकर जेल भेज दिया इसका खुलासा ग्वालटोली थाने में पत्नी व साँस,ससुर की खिलाफ दर्ज हुए मुकदमे में स्पष्ट हो गया है कि प्रोपर्टी हथियाने के लिए एक बाप ने अपनी बेटी का घर उजाड़ने के लिए कितना घिनौना खेल खेल डाला जिसमे एक नही कई ज़िंदगियां तबाही की कगार पर खड़ी है ।

घटनाक्रम के मुताबिक 23 करियप्पा रोड कैंट निवासी नाफिसुल हसन के बेटे साजिद नफीस ने 12 अक्टूबर 2007 को 89/226A बाँसमण्डी निवासी व पटाखा कारोबारी अंजुम नय्यर की बेटी फरिया नय्यर को निकाह कर लिया था । उसके बाद जब कई वर्ष तक जब फरिया माँ नही बन सकी तोह पति पत्नी दोनों ने टेस्ट कराया जिसमे चिकित्सालय परामर्श में फरिया की कमज़ोरी बताई गई जिसका इलाज भी कराया गया। जिससे दोनों में झगड़े होने लगे किन्तु साजिद ने संतुलन नही खोया और अपनी पत्नी को इलाज के लिए दिल्ली ले गया।

दूसरी तरफ साजिद की सांस शहाना बेगम की 2016 में  मौत हो गयी  जिसपर उसके ससुर अंजुम नय्यर ने 2017 में अपनी बेटी की उम्र की उज़्मा अंजुम से निकाह कर लिया । उज़्मा से अंजुम नय्यर को 4 मई 2019 को  सिविल लाइन्स स्थित दीप मेडिकल में एक बच्ची को जन्म दिया। जन्म के बाद फारिया की सहमति व नर्सिंग सेंटर की डॉक्टर किरण अग्रवाल की साठगाँठ कर उक्त नवजात बेटी का बाप साजिद नफीस व माँ उसकी बीवी फरिया अंजुम को फर्जी दस्तावेज बनाकर घोषित करवा दिया।जिसका साजिद को पता भी नही चला । उधर चकेरी पुलिस की साठगाँठ करके ट्रिपल तलाक का मुकदमा दर्ज कर साजिद नफीस को जेल भेज दिया । जेल से जमानत पर छूटने के बाद जब साजिद ने इस परिवार की छानबीन की तोह पता चला उसकी जमीन जायजाद हड़पने के लिए उसका वारिस पैदा कर ये घिनौना खेल खेला गया । जिसपर उसने अपनी पत्नी,ससुर और नई सांस के ऊपर ग्वालटोली थाने से  धारा 420, 467, 506 का मुकदमा हुआ जिसमें बेल खारिज होने के बाद भी गिरफ्तारी नही हुई। इस चौका देने वाले खेल के बाद पता चला है के फरिया ने एक पहले भी 2005 में शादी किया था जो कि एक डॉक्टर का पुत्र लखनऊ निवासी था उसके बाद बवाल कर उससे भी पैसा ऐंठ लिया था इस हैरतअंगेज खुलासे के बाद चकेरी पुलिस की काफी किरकिरी हो रही है। इस गंदे खेल में कई डॉक्टर नगर निगम के लोग फसते नज़र आ रहे है जिनोहोने फ़र्ज़ी दस्तावेज़ तैयार किये।